ताजा खबर
जज की हत्या और मीडिया का मोतियाबिंद साफ़ हवा के लिए बने कानून नेहरू से कौन डरता है? चालीस साल पुराना मुकदमा ,और गवाह स्वर्गवासी
Election
उत्तर भारत पूर्वोत्तर भारत दक्षिण भारत
चंचल का चैनल
चंचल

यह यू ट्यूब पर चंचल का चैनल है .इसका रुख गांव की तरफ है .चंचल चित्रकार हैं ,पत्रकार हैं ,लेखक है ,कलाकार हैं और बहुत कुछ हैं    विस्तृत....

जज की हत्या और मीडिया का मोतियाबिंद
जज

महेंद्र मिश्र 
बृजगोपाल लोया अब महज नाम नहीं बल्कि एक सवाल है जो इस देश की लोकतांत्रिक व्यवस्था के माथे पर चिपक गया है। और ये ऐसा दाग है जिसे अगर छुड़ाया नहीं गया तो पूरी व्यवस्था कलंकित दिखेगी। लिहाजा कलंक के इस टीके को हटाना व्यवस्था में बैठे हर जिम्मेदार और जवाबदेह शख्स की जिम्मेदारी बन गयी है। बृजपाल कोई सामान्य शख्  विस्तृत....

जनादेश-2017
दो रोटी और एक गिलास पानी !
दो
मदन गोपाल 
एक अख़बार था इलाहाबाद का 'स्वराज्य '.इसमें लिखने वालों में ग़दर पार्टी के लाला हरदयाल भी थे .गणेश शंकर विद्यार्थी भी इसमें काम करते थे जिन्होंने बाद  विस्तृत....
साफ़ हवा के लिए बने कानून
साफ़

नई  दिल्ली  । दीपावली के समय सर्वोच्च न्यायालय के दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण के कारण पटाखों पर प्रतिबंध वाले आदेश पर देश भर में इसे धर्म से जोड़ते हुए बहुत बहस हुई । हिंदू संगठनों ने जोर शोर से अभियान चलाया की पटाखे चलाओ और खूब चलाओ । अफसोस है की हम प्रदूषण जैसी भयानक समस्या पर भी राजनीति  विस्तृत....

नेहरू से कौन डरता है?
नेहरू

विभूति नारायण राय
करीब चार वर्ष पहले, जब अच्छे दिनों की आहट  अभी सुनायी  ही देनी शुरू हुई थी, केरल के एक संघ प्रचारक ने लिखा कि गांधी की नहीं नेहरू की हत्या की जानी चाहिए थी. यह मात्र  दिल्ली क  विस्तृत....

चालीस साल पुराना मुकदमा ,और गवाह स्वर्गवासी
चालीस

अंबरीश कुमार 

लखनऊ .चंचल बनाम उत्तर प्रदेश सरकार का रोचक मुकदमा सोलह नवंबर से शुरू होने जा रहा है .मामला 1978 का है जिसपर काफी कुछ लिखा जा चुका है .लिखा पढ़ा इतना गया कि अदालत भी पसीज गई है .एक दिन जेल भेजा त  विस्तृत....

चार दशक बाद समाजवादी चंचल फिर जेल में
चार

अंबरीश कुमार 

देश के जानेमाने चित्रकार ,पत्रकार और लेखक चंचल को आज अंततः जौनपुर की अदालत ने जेल भेज दिया .मामला करीब चालीस साल पुराना है जब वे बनारस हिंदू विश्विद्यालय छात्रसंघ के अध्यक्ष थे .अ  विस्तृत....

भाजपा पर क्यों मेहरबान रहा ओमिडयार
भाजपा

संजय कुमार सिंह 

विदेशी पूंजी किस तरह किसी देश की राजनीति को प्रभावित करती है और एजंडा बदल देती है यह समझने के लिए ओमिडयार नेटवर्क के खेल को समझना होगा । भारत में इस खेल के सूत्रधार भाजपा नेता और एक दक्षिणपं  विस्तृत....

ओमिडयार और जयंत सिन्हा का खेल बूझिए !
ओमिडयार

 मोदी और विदेशी पूंजी !

संजय कुमार सिंह
केंद्र में नरेन्द्र मोदी की सरकार बनने के बाद pando.com पर Mark Ames ने 26 मई 2014 को लिखा था (मैंने तब नहीं पढ़ा था), “भारत में चुनाव के बाद एक कट्टरपंथी हिन्दू सुपरमैसिस्ट (हिन  विस्तृत....

पर्यावरण
जहां नदी लगती है यमुना
जहां
अंबरीश कुमार 
कांदिखाल से करीब चालीस मिनट में हम यमुना पुल तक पहुंच गये .आगे चकराता के रास्ते पर जाना था .कुछ दूरी के बाद ही हिमाचल की सीमा आ जाती है .यमुना पुल से पहले यमुना का विहंगम द  विस्तृत....
पर्यटन
एक शाम सूपखार के डाक बंगला में
एक

अंबरीश कुमार 

यह सूपखार का डाक बंगला है .अब तक देश में सौ से ज्यादा डाक बंगले में रुक चुका हूं पर ऐसा डाक ब  विस्तृत....
कला/सिनेमा
दरवाजे पर हॉलीवुड
दरवाजे

हरि मृदुल

वाकई फिल्मी परिदृश्य तेजी से बदल रहा है. हॉलीवुड ने हिंदुस्तान में अपने लिए बड़ी संभावनायें तलाश करनी   विस्तृत....
राजनीति
सोशल मीडिया के मूर्ख ......
सोशल

हरि शंकर व्यास

इसलिए कि मुझे नया इंडिया को हल्का, बेरंग बनाना पड़ा है  विस्तृत....
Onlinenewspapers - the worlds 

largest online newspaper directory
Copyright @ 2016 All Right Reserved By Janadesh
Designed and Maintened by eMag Technologies Pvt. Ltd.