ताजा खबर
बागियों को शह देते मुलायम गैर भाजपावाद की नई पहल दम तोड़ रही है नैनी झील अखिलेश पर दबाव बढ़ा रहें है मुलायम
शुरुआत तो ठीक ही हुई है महाराज !

अंबरीश कुमार 

लखनऊ । सबका साथ और सबका विकास होगा ।यह टिपण्णी आज उत्तर प्रदेश के नए मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी की थी ।पूर्वांचल में हिंदुत्व की नर्सरी चलाने वाले आदित्यनाथ योगी अब मुख्यमंत्री हैं देश के सबसे बड़े सूबे के । वे अपनी राजनैतिक ताकत और क्षमता से मुख्यमंत्री बने हैं ।यह ध्यान रखना चाहिए ।आज ही शपथ ली और मंत्रिमंडल की बैठक के बाद मीडिया से भी मिले । साफ़ किया कि हर तबके का विकास होगा । यह योगी का नया चेहरा है । वे योगी जो हिंदुत्व का कट्टर चेहरा माने जाते रहें है । जिन्हें लेकर तरह तरह की आशंका भी समाज के एक तबके में है । तो दूसरी तरफ बहुसंख्यक तबका है जिसे बहुत उम्मीद भी है ।पर योगी ने मुख्यमंत्री के रूप में अपना पहला संदेश बहुत ही संतुलित और संयमित दिया है । मंदिर निर्माण को लेकर कोई बात नहीं की । खेत, खेती और किसान को प्राथमिकता पर रखा तो साथ ही लचर कानून व्यवस्था को भी । विपक्ष पर भी कोई ज्यादा हमला न कर आगे की योजना पर फोकस किया । योगी की पहली प्रेस कांफ्रेंस से उम्मीद जगती है । वैसे भी वे युवा और उर्जावान नेता हैं । जो उन्हें करीब से जानते हैं उन्हें पता है कि वे सुबह तीन बजे उठकर दिन की शुरुआत करते हैं और रात बारह बजे तक जनता के बीच रहते है । गोरखपुर में एक बार मुझे भी रात साढ़े ग्यारह बजे इंटरव्यू का समय मिला था तभी यह जानकारी हुई । रात में भी वे फ़रियाद सुनते हैं । दिन में वे मंदिर परिसर में जनता से मिलते हैं तो अस्पताल में जाकर मरीजों का भी हालचाल लेते हैं ।  मुख्यमंत्री बनने के बाद उनकी जिम्मेदारी और बढ़ चुकी है । अब वे गोरखनाथ मंदिर परिसर के महाराज ही नहीं हैं बल्कि समूचे प्रदेश के ' महाराज ' बन चुके है । अब उनपर सिर्फ एक धर्म एक तबके की ही नहीं हर धर्म और हर तबके की सुरक्षा की जिम्मेदारी आ चुकी है । इसलिए अब उन्हें अपने परम्परागत एजंडा की जगह समूचे प्रदेश का एजंडा तय करना है । इसका संकेत उन्होंने आज दे भी दिया है । वे जिस गोरखपुर से आते हैं वह पूर्व मुख्यमंत्री वीर बहादुर सिंह के जाने के बाद जो पिछड़ा तो कभी आगे नहीं बढ़ पाया । जापानी बुखार से हर साल हजारों बच्चे मरते है । टूटी फूटी सड़क .गंदगी का अंबार और दम तोडती नदियां । यह हाल समूचे पूर्वांचल का है । बनारस से बलिया तक । वीर बहादुर सिंह को लोग आज भी याद करते हैं तो सिर्फ उनके काम की वजह से । अब प्रदेश की बागडोर फिर पूर्वांचल के हाथ है तो सबकी नजर भी योगी पर टिक गई है । इंतजार करना चाहिए ,उम्मीद भी रखनी चाहिए बदलाव की । फिलहाल शुरुआत तो ठीक ही हुई है महाराज ।
email ईमेल करें Print प्रिंट संस्करण
  • दम तोड़ रही है नैनी झील
  • बागियों को शह देते मुलायम
  • गैर भाजपावाद की नई पहल
  • कहां गये दूसरी परंपरा के हिंदू?
  • बांधों को लेकर सवाल बरकरार
  • अखिलेश पर दबाव बढ़ा रहें है मुलायम
  • ईवीएम से छेड़छाड़ संभव है
  • शराब कारोबार की उलटी गिनती
  • केशव प्रसाद मौर्य होंगे यूपी के सीएम ?
  • उत्तर प्रदेश में मोदी का रामराज !
  • तैयारी में जुटे राजनाथ !
  • एक नहीं साठ स्टेशन बेचने की तैयारी !
  • आओ चलो हवा बनाएं
  • डर कर पूर्वांचल में बैठ गए मोदी -अखिलेश
  • कांग्रेस के रुख से नीतीश ने बदली राह ?
  • ई राज्ज्ज़ा काशी है
  • अगला राष्‍ट्रपति कौन ?
  • बनारस में बैठ गई सरकार
  • पर गढ़ में भी नहीं बंटे मुस्लिम
  • मोदी की खामोशी पर शिबली हैरान
  • वह बेजान है और हम जानदार हैं
  • ' मुलायम के लोग ' चले गए !
  • नीतीश ने क्यों बनायी अखिलेश से दूरी !
  • बिगड़े जदयू-राजद के रिश्ते
  • यूपी में हमारी सरकार -अमित शाह
  • Post your comments
    Copyright @ 2016 All Right Reserved By Janadesh
    Designed and Maintened by eMag Technologies Pvt. Ltd.