पूर्वोत्तर में भी बेकाबू हुआ कोरोना

आखिर वह दिन आ ही गया ! बिहार में कब चुनाव होगा? मंदिर निर्माण का श्रेय इतिहास में किसके नाम दर्ज होगा ? राष्ट्रीय कंपनी अधिनियम पंचाटः तकनीकी सदस्यों पर अनावश्यक विवाद बहुतों को न्यौते का इंतजार ... आत्महत्या की कहानी में झोल है पार्षदों को डेढ़ साल से मासिक भत्ता नहीं मिला पटना के हालात और बिगड़े गांधीवादियों की चिट्ठी सोशल मीडिया में क्यों फैली ? अमर की चिंता तो रहती ही थी मुलायम को चारण पत्रकारिता से बचना चाहिए तो क्या 'विरोध' ही बचा है आखिरी रास्ता पटना नगर निगम के मेयर सफल रहीं अमर सिंह को कितना जानते हैं आप राजस्थान का गुर्जर समाज किसके साथ शिवराज समेत चार मंत्रियों को कोरोना कम्युनिस्ट भी बंदर बांट में फंस गए पूर्वोत्तर में भी बेकाबू हुआ कोरोना किसान मुक्ति आंदोलन का कार्यक्रम शुरू राजकमल समूह में शामिल हुआ हंस प्रकाशन

पूर्वोत्तर में भी बेकाबू हुआ कोरोना


प्रभाकर मणि तिवारी
 गुवाहाटी.शुरुआती दौर में कोरोना पर काबू पाने के मामले में पूर्वोत्तर में सिक्किम समेत तमाम आठों राज्यों ने काफी सराहना बटोरी थी. लेकिन जून की शुरुआत से ही तस्वीर बदलने लगी है. अब देश के दूसरे हिस्सों के साथ ही पूर्वोत्तर के आठ राज्य भी कोरोना की मार से कराह रहे हैं. इलाके में कोरोना संक्रमितों की तादाद 49 हजार पार हो गई है. नागालैंड में तो एक विधायक और विधानसभा सचिवालय के आधा दर्जन कर्मचारियों के संक्रमित होने की वजह से गुरुवार को होने वाला मानसून अधिवेशन 13 अगस्त तक टालना पड़ा है.

कोरोना की सबसे गहरी मार पूर्वोत्तर के प्रवेश द्वार कहे जाने वाले असम पर पड़ी है. इस मामले में त्रिपुरा व मणिपुर क्रमशः दूसरे और तीसरे स्थान पर हैं. असम में कोरोना संक्रमितों की तादाद बढ़ कर 36 हजार पार हो गई है. इससे मरने वालों की तादाद भी 92 तक पहुंच गई है.

त्रिपुरा में रोजाना औसतन दो सौ से ज्यादा नए मामले सामने आ रहे हैं. राज्य में मरीजों की तादाद साढ़े हजार के पार हो गई है. यहां संक्रमण से अब तक 21 लोगों की मौत हुई है. सरकारी सूत्रों ने बताया कि अगरतला सरकारी मेडिकल कॉलेज (एजीएमसी) में इलाज के दौरान चार मरीजों की मौत हो गई. इसी तरह मणिपुर में बीते 24 घंटों के दौरान 141 नए मरीज सामने आए हैं. मौतों के लिहाज से यहां स्थिति ठीक है और अब तक सिर्फ एक व्यक्ति की ही मौत हुई है.

नागालैंड के कई शहरों में लॉकडाउन के बीच कोरोना संक्रमण के 53 नए मामले आने के साथ ही राज्य में संक्रमितों की संख्या 1513 हो गई है. दीमापुर में 28, कोहिमा में 19 और मोम में पांच नए मरीज सामने आए हैं. यह हालत तब है जबकि इन तीनों शहरों में लॉकडाउन है. राज्य में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 1513 तक पहुंच गई है. यहां अब तक कोरोना के कारण पांच मौते हुई है.

राज्य में विधायक हाथूंमग यांथन, उनके ड्राइवर और बाडीगार्ड की कोरोना रिपोर्ट पाजीटिव आई है. इसके अलावा विधानसभा सचिवालय के छह कर्मचारी भी पाजीटिव पाए गए हैं. इसके बाद सचिवालय को 48 घंटे के लिए बंद कर दिया गया है और उसे सैनिटाइज करने का काम चल रहा है. एक अन्य विधायक आर. खींग के ड्राइवर औऱ बाडीगार्ड की रिपोर्ट भी पाजीटिव रही है. 30 जुलाई को होने वाले एक-दिवसीय अधिवेशन के लिए तमाम विधायकों और कर्मचारियों के लिए कोरोना की जांच अनिवार्य कर दी गई थी.

अरुणाचल प्रदेश में 80 नए मरीजों की शिनाख्त हुई है. इससे राज्य में मरीजों की कुल संख्या चौदह सौ पार हो गई है. राज्य में अब तक संक्रमण से तीन लोगों की मौत हुई है. मिजोरम में 11 नए मरीज सामने आए हैं. इससे यहां कोरोना संक्रमितों की संख्या 395 हो गई है. पश्चिम बंगाल से सटे सिक्किम में 17 नए संक्रमितों के सामने आने के साथ ही मरीजों की तादाद 596 हो गई है. यहां भी अब तक एक ही व्यक्ति की मौत हुई है. इसी तरह मेघालय में कोरोना संक्रमितों की कुल तादाद 784 हो गई है. राज्य में अब तक पांच लोगों की मौत हो चुकी है.

vijस्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि शुरुआती दो महीनों के लॉकडाउन के दौरान इलाके में कोरोना के मामले नहीं के बराबर थे. पहले तब्लीगी जमात के लोगों ने संक्रमण फैलाया और उसके बाद देश के दूसरे हिस्सों से भारी तादाद में लौटने वाले प्रवासी मजदूरों ने.


Share On Facebook
  • |

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :