पटना नगर निगम के मेयर सफल रहीं

आखिर वह दिन आ ही गया ! बिहार में कब चुनाव होगा? मंदिर निर्माण का श्रेय इतिहास में किसके नाम दर्ज होगा ? राष्ट्रीय कंपनी अधिनियम पंचाटः तकनीकी सदस्यों पर अनावश्यक विवाद बहुतों को न्यौते का इंतजार ... आत्महत्या की कहानी में झोल है पार्षदों को डेढ़ साल से मासिक भत्ता नहीं मिला पटना के हालात और बिगड़े गांधीवादियों की चिट्ठी सोशल मीडिया में क्यों फैली ? अमर की चिंता तो रहती ही थी मुलायम को चारण पत्रकारिता से बचना चाहिए तो क्या 'विरोध' ही बचा है आखिरी रास्ता पटना नगर निगम के मेयर सफल रहीं अमर सिंह को कितना जानते हैं आप राजस्थान का गुर्जर समाज किसके साथ शिवराज समेत चार मंत्रियों को कोरोना कम्युनिस्ट भी बंदर बांट में फंस गए पूर्वोत्तर में भी बेकाबू हुआ कोरोना किसान मुक्ति आंदोलन का कार्यक्रम शुरू राजकमल समूह में शामिल हुआ हंस प्रकाशन

पटना नगर निगम के मेयर सफल रहीं

आलोक कुमार
पटना.
कई मायने में वर्ष 2017 का पटना नगर निगम का चुनाव महत्वपूर्ण था.2017 में यह प्रावधान बना कि पटना नगर निगम के मेयर की कुर्सी पर कोई महिला बैठेंगी. वहीं दीघा और मैनपुरा ग्राम पंचायत राज के कोख से तीन वार्ड निर्मित हुआ. 22 A, 22B और 22 C को मिलाकर 75 वार्ड पर चुनाव हुआ.चुनाव परिणाम बेहद चौंकाने वाला रहा. बदले आरक्षण रोस्टर ने कई मजबूत पार्षदों की गणित बिगाड़ दी.सभी 75 वार्डों के लिए हुए चुनाव में 59 नए चेहरे जीत कर आए.सिर्फ 16 पुराने पार्षर्दों को फिर कामयाबी मिली.वार्ड 28 से विनय कुमार पप्पू लगातार चौथी बार पार्षद चुने गए.

प्रावधान के अनुसार मेयर का यह पद महिला के लिए आरक्षित हुआ. मेयर के पद पर महिला (अनुसूचित जाति-अनुसूचित जनजाति एवं पिछड़ी जाति की महिला सहित) निर्वाचित हुई .1955 से पुरुष ही मेयर बनते आ रहे थे.इस तरह 62 साल के बाद मेयर पद पर महिला बैठकर इतिहास  रच डाली.यह सौभाग्य सीता साहू को प्राप्त है.वह ही मेयर पद की जंग में रजनी देवी को शिकस्त देकर पहली मेयर बन गयी. प्रथम महिला मेयर चुनी गई.पटना सिटी के उद्यमी परिवार की सीता साहू (59) पहली बार वार्ड-58 से पार्षद बनी हैं.उनकी प्रतिद्वंद्वी रजनी भी वार्ड-22 (सी) से पहली बार पार्षद बनीं.मेयर पद के लिए वोटिंग में दो मत अवैध निकले. शेष 73 मतों में सीता साहू को 38 और रजनी देवी को 35 मत मिले. कड़े मुकाबले में सीता ने तीन मतों से रजनी को हरा दिया. पराजित यह पद कांटो का ताज साबित हुआ.मेयर पद चुनाव में हारने वाली रजनी देवी ने न्यायालय की शरण ले ली.मामला विचाराधीन है.

पटना नगर निगम के उप महापौर विनय कुमार पप्पू पर अविश्वास प्रस्ताव 2019 में लाने के बाद फतह पाने पर खुद ही मेयर सीता साहू ने अविश्वास प्रस्ताव लाकर पार्षदों का विश्वास जीतने में कामयाब हो गयी.एक बार फिर कोरोना काल में अविश्वास प्रस्ताव लाया गया.विपक्ष के 41 पार्षदों ने अविश्वास प्रस्ताव ठोंका. श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में शुक्रवार को सीता साहू के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग के लिए बैठक बुलाई गई थी. इस बैठक में मेयर सीता साहू तकरीबन 20 मिनट की देर से पहुंचींं.सीता साहू के देर से पहुंचने को मुद्दा बनाते हुए विरोधी गुट के पार्षदों ने वॉकआउट कर दिया.इस वॉकआउट के बीच में ही अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा की गयी और मत विभाजन में विरोधी खेमे के 41 पार्षदों में से केवल 5 ही मैदान बैठक मौजूद थे.काफी देर तक श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में बवाल होता रहा. बड़ी नाटकीय ढंग से आखिरकार सीता साहू की कुर्सी बच गई .प्रेस को न्यूज कवर करने से रोका गया. 22 C की वार्ड पार्षद रजनी देवी के पति ने कहा कि अविश्वास प्रस्ताव के समय विरोधी खेमे के लोग वॉकआउट करके बाहर आ गये थे.मेयर ने खुद ही 5 पार्षदों को विरोधी करार कर रण मारने की घोषणा करवा ली.

22 C की वार्ड पार्षद रजनी देवी के पार्षद प्रतिनिधि पप्पू राय ने कहा कि
पटना नगर निगम के उप महापौर मीरा देवी ने मेयर सीता साहू के विलम्ब से आने पर विरोधी खेमे के वॉकआउट होने पर अविश्वास प्रस्ताव को स्थगित करके आगामी सोमवार 3 अगस्त को वोटिंग करवाने की व्यवस्था दे दी थी.कई मीडिया वालों ने लाइव प्रसारण भी कर दिये. इस बीच विपक्ष की गैरहाजिरी में महाड्रामा का अंजाम दिया गया.नगर आयुक्त हिमांशु शर्मा ने उप महापौर मीरा देवी के द्वारा दी गयी व्यवस्था को अमान्य करके बहिष्कार के बीच में सशख्त स्थायी समिति के सदस्य मनोज कुमार की अध्यक्षता में बैठक कराकर 41 पार्षदों में 5 पार्षदों की उपस्थिति दिखाकर
मेयर सीता साहू को जरूर विजयी करार कर दिया है.इस पूरे प्रकरण को लेकर 22 C की वार्ड पार्षद रजनी देवी के पार्षद प्रतिनिधि पप्पू राय ने कहा कि जनतंत्र की हत्या कर दी गयी.इसके खिलाफ अदालत के द्वार खटखटाएंगे.


Share On Facebook
  • |

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :