जनादेश

भोपाल में भी शाहीन बाग! कहां और कैसे होगा न्याय? जदयू में अब खुलकर सिर फुटव्वल ! अभी खत्म नहीं हुआ खिचड़ी का महीना ! महिला कलेक्टर पर टिप्पणी से मचा बवाल बाग़ बगीचा चाहिए तो उत्तराखंड आइए ! यह लखनऊ का शाहीन बाग़ है ! ज्यादा जोगी मठ उजाड़ ! जगदानंद को लेकर रघुवंश ने लालू को लिखा पत्र कड़ाके की ठंढ से बचाती 'कांगड़ी ' यही समय है दही खाने का ! निर्भया के बहाने सेंगर को भी तो याद करें ! डॉक्टर को दवा कंपनियां क्या-क्या देती हैं ? एमपी के सरकारी परिसरों में शाखा पर रोक लगेगी ? एक थे सलविंदर सिंह मुख्यमंत्री पर जदयू भाजपा के बीच तकरार जारी वाम दल सड़क पर उतरे जाड़ों में गुलगुला नहीं गुड़ खाएं ! नए दुश्मन तलाशती यह राजनीति ! कलेक्टरों के खिलाफ कार्रवाई हो-सीबीआई

पाकिस्तानियों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा

अभयानंद कृष्ण

लखनऊ .भारत के लिए एयर स्पेस पर पाकिस्तान की रोक के जवाब में भारत सरकार ने वैध पासपोर्ट और वीसा होने के बावजूद पाकिस्तान नागरिकों को भारत में सड़क मार्ग से घुसने और निकलने पर रोक लगा दिया है. भारत- नेपाल की खुली सरहद की निगहबानी में जुटे आब्रजन(इमीग्रेशन) कार्यालय को इस बावत स्पष्ट निर्देश जारी कर दिये गये हैं. जिसके बाद सीमा पर मुस्तैदी बढ़ गयी है. इस वजह से नेपाल ने भी पाकिस्तानियों को आन अराइवल वीसा देने पर रोक लगा दिया है. महराजगंज जनपद के सोनौली स्थित भारतीय आब्रजन कार्यालय के अधिकारियों ने इसकी पुष्टि की .इमीग्रेशन अधिकारी मिथिलेश कुमार तिवारी ने  बताया कि बार्डर की सड़क के किसी भी एक्जिट और इंट्री प्वाइंट से पाकिस्तान सहित बारह देशों के नागरिकों के गुजरने पर प्रतिबंध है.


भारत-पाकिस्तान के बीच कड़वे होते रिश्तों में पाकिस्तान के एयर स्पेस से भारतीयों के गुजरने पर प्रतिबंध का पाकिस्तानी ऐलान बीते दिनों सुर्खी बना था. अब भारत ने भी जवाब के रूप में कड़ा कदम उठा लिया है. इसके तहत पाकिस्तानी नागरिक वैध वीसा पर सिर्फ हवाई यात्रा कर सकते हैं उन्हें भारत के भीतर एयरपोर्ट पर उतरने की छूट है, लेकिन भारतीय इमीग्रेशन ने अपने देश में आये पाकिस्तानी नागरिकों को नेपाल जाने के लिए अराइवल वीसा देने पर रोक लगा दिया है. इसी तरह नेपाल से आने वाले पाकिस्तानी नागरिकों को भी स्थल मार्ग के प्रयोग की अनुमति नहीं है. यह रोक पाकिस्तान सहित बारह दूसरे देशों के लिए भी है. इनमें ईराक, घाना, सीरिया और कैमरून जैसे अन्य देश हैं. इन बारह देशों को छोड़ शेष मुल्कों के नागरिकों को भारत और नेपाल आने जाने के लिए सड़क मार्ग के प्रयोग की इजाजत है.

सोनौली, भारत-नेपाल का अंतर्राष्ट्रीय प्रवेश द्वार है. इस रास्ते विभिन्न देशों के नागरिक आवश्यक दस्तावेजों के सहारे आते-जाते हैं. इमीग्रेशन अधिकारी मिथिलेश कुमार तिवारी कहते हैं कि महराजगंज सहित पड़ोस के कई जनपद मुख्यालयों से भारत और नेपाल के बीच खुली सरहद गुजरती है इस लिहाज से सुरक्षा के मद्देनजर गृहमंत्रालय और विभागीय मुख्यालय से समय-समय पर निर्देश जारी होते हैं. इधर पाकिस्तान से रिश्ता बिगड़ने के बाद यह एक नया निर्देश जारी हुआ है जिसे लेकर अधिक मुस्तैदी करनी पड़ रही है.

Share On Facebook

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :