जनादेश

ढोरपाटन का वह शिकारगाह ! इस मौसम में भिंडी ,अरबी और कटहल से बचें ! किसान संगठनों ने किया ग्रामीण भारत बंद का एलान जमानत नियम है, जेल अपवाद फिर सौ दिन ? हनीट्रैप का खुलासा करने वाला अखबार निशाने पर कौन हैं ये राहुल बजाज ,जानते हैं ? पानी किसी एक देश का नहीं होता अदरक डालिए साग में अगर कफ से बचना है तो जंगल ,पहाड़ और शिकार ! चलो सोनपुर का मेला तो देखें ! फिर दिखी हिंदी मीडिया की दरिद्रता ! मोदी को ठेंगा दिखाती प्रज्ञा ठाकुर ! गुर्जर-मीणा विवाद में फंसा पांचना बांध तो जेडीयू ने भी दिखाई आंख ! महाराष्ट्र छोड़िए अब बंगाल और बिहार देखिए ! सांभर झील बनी मौत की झील जो आपसे कहीं सुसंस्कृत है! भाजपा और तृणमूल दोनों का रास्ता आसान नहीं कश्मीरी नेताओं का यह कैसा उत्पीडन ! शुक्रिया ,पोगापंथ से लड़ने वाले नौजवानों !

मोदी को ठेंगा दिखाती प्रज्ञा ठाकुर !

पूजा सिंह

भोपाल. भोपाल की सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ठेंगा दिखाया है .उन्होंने फिर नाथूराम गोडसे की तारीफ का तराना छेड़ा. इस बार उन्होंने जगह चुनी देश की संसद. बुधवार को एसपीजी संशोधन विधेयक पर चर्चा के दौरान ठाकुर ने गोडसे को एक बार फिर देशभक्त बताया. विधेयक पर चर्चा के दौरान डीएमके सांसद ए राजा अपनी राय रख रहे थे. उनके भाषण में गोडसे के एक बयान का जिक्र आया जिसमें गोडसे ने कहा था कि उसने महात्मा गांधी की हत्या क्यों की? उनकी बात को बीच में काटते हुए प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि आप एक देशभक्त का उदाहरण नहीं दे सकते हैं. उनका इतना कहना था कि लोकसभा में हंगामा मच गया. ठाकुर के बयान को सदन की कार्यवाही से हटा दिया गया. अब भारतीय जनता पार्टी पर उनके खिलाफ कार्रवाई करने का दबाव बढ़ गया है. फिलहाल ठाकुर को रक्षा मामलों की संसदीय समिति से निष्काषित कर दिया गया है. भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने ठाकुर के बयान की निंदा की है. उन पर और कोई कार्यवाही की जा सकती है.पर अब तक जो भी कार्यवाई हुई वह प्रतीकात्मक ही नजर आ रही है .जबकि मोदी कह चुके हैं कि वे उन्हें दिल से कभी माफ़ नहीं करेंगे .उसके बाद फिर उन्होंने वही हरकत की . 


यह पहला मौका नहीं है जब प्रज्ञा ठाकुर ने गोडसे की तारीफ की है. इससे पहले लोकसभा चुनाव के प्रचार अभियान के दौरान उन्होंने गोडसे को देशभक्त कहा था. बाद में उन्होंने अपने इस बयान के लिए माफी मांगी थी. उस वक्त प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि वह ठाकुर को कभी मन से माफ नहीं कर पायेंगे.

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ठाकुर के बयान पर कहा- यह लोकतंत्र के लिए दुखद दिन है. मैं उस महिला के बारे में बोलना नहीं चाहता. यह आरएसएस और भाजपा की आत्मा में है. वह कहीं न कहीं से तो निकलेगा. वह गांधी जी की कितनी भी पूजा करें. उनकी आत्मा संघ की है. मैं अपना समय खराब नहीं करना चाहता. उनके ऊपर कार्रवाई होनी चाहिये.मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ठाकुर के इस बयान की निंदा करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को प्रज्ञा के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करनी चाहिये. गांधी के खिलाफ बयान देने के कारण भाजपा निलंबित एक अन्य नेता अनिल सौमित्र ने कहा कि ठाकुर के इस बयान के बाद पार्टी गोडसे और गांधी पर अपना स्टैंड स्पष्ट करे.

मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के वरिष्ठ नेता बादल सरोज कहते हैं कि प्रज्ञा ठाकुर ने गोडसे को लेकर जो कुछ कहा है वह आरएसएस का पुराना एजेंडा है. इस एजेंडे के तहत ही आज प्रज्ञा ठाकुर गोडसे की तारीफ कर रही हैं. इसी प्रकार इसे धीरे-धीरे जनमानस के बीच वैधता प्रदान की जाती है.फोटो साभार

Share On Facebook

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :