जनादेश

राम नाम के जयकारों के साथ शुरू हुई विश्व प्रसिद्ध 84 कोसी परिक्रमा मनमोहन सिंह की नाराज़गी राजस्थान में बढ़ते अपराध इस सप्‍ताह आपका भविष्‍य ट्रंप दौरा और केजरीवाल सोनभद्र मे मिला सोने का पहाड़ लखनऊ की साक्षी शिवानंद की फैशन इंडस्‍ट्री में धूम हाउसिंग में मंदी का असर सब पर है-विजय आचार्य युवाओं के लिए प्रेरणा हैं अविनाश त्रिपाठी बच्चों के हाथों से कलम नहीं छीननी चाहिए-सुनील जोगी महिला उद्यमियों के लिये एक प्रेरणा हैं अनामिका राय वर्षा वर्मा की एक 'दिव्‍य कोशिश' ये हैं लखनऊ की 'रोटी वीमेन' 'गर्भ संस्‍कार' पढ़ने लखनऊ आइए जाफराबाद में शाहीनबाग जैसे हालात भारत में हर साल मर रहे दस लाख लोग आजादी के बाद बस तीन लोग इंटर पास यूपी में आईएएस अफसरों का तबादला गोवा और महादयी जल विवाद क्‍या केजरीवाल पीके से बेहतर रणनीतिकार हैं?

महिला कलेक्टर पर टिप्पणी से मचा बवाल

पूजा सिंह

भोपाल. मध्य प्रदेश के राजगढ़ जिले की महिला कलेक्टर निधि निवेदिता के खिलाफ भारतीय जनता पार्टी के पूर्व मंत्री बद्रीलाल यादव की आपत्तिजनक टिप्पणी से सियासी भूचाल आ गया है. जिले में नागरिकता कानून के समर्थन में निकली एक रैली में कलेक्टर ने एक भाजपा कार्यकर्ता को थप्पड़ मार दिया था. इसके विरोध में आयोजित एक कार्यक्रम में यादव ने निवेदिता के खिलाफ बेहद आपत्तिजनक टिप्पणी कर दी.

यादव ने जिले के ब्यावरा कस्बे में आयोजित एक कार्यक्रम में कहा, ‘कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को बड़े प्रेम से दूध पिलाती है, गोद में बिठाकर दूध पिलाती है और भाजपा के कार्यकर्ताओं को चांटा मारती है, डंडे मारती है.’ जिस वक्त यादव ने यह आपत्तिजनक टिप्पणी की, उस समय कार्यक्रम में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह और नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव मौजूद थे.

कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने कहा कि यह टिप्पणी भाजपा नेताओं की मानसिकता दर्शाती है. उन्होंने कहा कि पहले रैली में भाजपा कार्यकर्ताओं ने महिला अधिकारियों के साथ बदतमीजी की और अब उसके नेता ऐसी अश्लील टिप्पणियां कर रहे हैं. इससे पता चलता है कि उनके मन में महिलाओं को लेकर कोई सम्मान नहीं है. सलूजा ने कहा कि भाजपा नेता बहन-बेटियों के सम्मान की बात करते हैं लेकिन वह व्यवहार में नजर नहीं आता.


इस कार्यक्रम में विजयवर्गीय ने कहा कि जेएनयू का वायरस राजगढ़ आ पहुंचा है. उन्होंने कहा कि राजगढ़ कलेक्टर जेएनयू की पूर्व छात्र हैं. विजयवर्गीय ने चेतावनी दी कि मुख्यमंत्री कमल नाथ को इन अधिकारियों पर कार्रवाई करनी चाहिये वरना भाजपा कदम उठाएगी. पूर्व मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि ऐसे अधिकारी लोकतंत्र के चेहरे पर तमाचा हैं. उन्होंने कहा कि अधिकारियों को किसी पर हाथ उठाने का अधिकार नहीं है.

कांग्रेस प्रवक्ता पंकज चतुर्वेदी ने कहा कि भाजपा को यह स्पष्ट करना चाहिये कि क्या वह ऐसे लोगों के साथ खड़ी है जो मां-बहनों का अपमान करते हैं? उन्होंने कहा कि रैली के दौरान महिला अधिकारियों को गाली दी गई, उनके बाल खींचे गए और अब भाजपा के बड़े नेता उनके खिलाफ अशोभनीय टिप्पणी कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि पार्टी को इन बातों पर विचार करना चाहिये.

Share On Facebook

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :