जनादेश
नाराज ओवैशी ने पठान का मुंह बंद किया

हैदराबाद. उद्धव ठाकरे सरकार में विधायक और एआईएमआईएम प्रवक्ता वारिस पठान के 100 करोड़ पर 15 करोड़ भारी वाले बयान पर पार्टी चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने एक्शन लेते हुए उनपर (वारिस) मीडिया से बात करने पर रोक लगा दी. पार्टी सूत्रों की मानें तो अब वारिस पठान बिना पार्टी की इजाजत के किसी भी जगह पर सार्वजनिक बयान नहीं दे पाएंगे. वारिस पठान के बयान के बाद से ही असदुद्दीन ओवैसी पर सवाल उठ रहे थे कि हमेशा संविधान की दुहाई देने वाले एआईएमआईएम चीफ अपनी पार्टी के प्रवक्ता की जहरीली भाषा पर चुप क्यों हैं. 

वारिस पठान ने यह बयान कर्नाटक के गुलबर्गा में एक जनसभा के दौरान दिया. वे नागरिकता संशोधन एक्ट के खिलाफ लोगों को संबोधित कर रहे थे. उस समय उन्होंने कहा ‘हम 15 करोड़ ही 100 करोड़ लोगों पर भारी हैं. यह बात याद रख लेना.’

ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन विधायक वारिस पठान ने रैली में कहा ‘ हमने ईंट का जवाब पत्थर से देना सीख लिया है. मगर हम सभी को एकसाथ होकर आगे बढ़ना होगा. आजादी लेनी होगी और जो चीजें मांगने से नहीं मिलती उसको छीन लिया जाता है.’


वारिस पठान का यह बयान कुछ ही देर में राजनीतिक तूल पकड़ गया. पार्टी प्रमुख ओवैसी ने भी बयान की निंदा की. बाद में वारिस पठान ने सफाई देते हुए कहा कि उन्होंने किसी भी धर्म का नाम नहीं लिया. हालांकि, उन्होंने कहा कि वे अपने बयान के लिए माफी नहीं मांगेंगे. उन्होंने जो कहा वो संविधान के दायरे में कहा.

बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम और राजद नेता तेजस्वी यादव ने वारिस पठान के बयान पर काफी तीखी प्रतिक्रिया दी. तेजस्वी यादव ने कहा कि वारिस पठान को तुंरत गिरफ्तार किया जाना चाहिए. साथ ही तेजस्वी ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि एआईएमआईएम भाजपा की बी टीम की तरह काम कर रही है.फोटो साभार 


Share On Facebook

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :