बंगाल और ओडिसा में मतदान का आंकड़ा बढ़ा .फर्जीवाड़े की आशंका ?

दुनिया के सबसे बड़े कोविड टीकाकरण की शुरुआत पत्रकार पर भड़के नीतीश कुमार डिंपल यादव का जन्म दिन मनाया गया हिंदुत्व का नया चेहरा बनते योगी ! किसानों के समर्थन में उतरी कांग्रेस अमेरिकी पार्लियामेंट पर हमला और भारत बर्फ़ पर गाड़ी और याद आई नानी ! तितलियों का काम भी हम ही करेंगे ? किसान कानून-खतरे में सुप्रीम कोर्ट की साख डेमोक्रेटिक पार्टी ट्विटर, फ़ेसबुक के सामने बौनी पड़ गई ! ब्लू लैगून की ब्रुक शील्ड्स याद है ? मध्य प्रदेश में ये क्या हो रहा है ? आज खिचड़ी है लूसी कुरियन परिचय की मोहताज नहीं वूमेन हेल्पलाइन को बंद करने पर सरकार से जवाब तलब रूपेश सिंह हत्याकांड पर सीएम नीतीश सख्त महान दल समाजवादी पार्टी के साथ कभी छुपा कर पढ़ते थे कुशवाहा कांत की किताबें समाजवादी युवा घेरा कार्यक्रम आयोजित हुआ बेतिया माडल के चर्चे

बंगाल और ओडिसा में मतदान का आंकड़ा बढ़ा .फर्जीवाड़े की आशंका ?

गिरीश मालवीय 

नई दिल्ली .क्या खुद चुनाव आयोग मतदान के आंकड़ों में हेराफेरी कर इस 2019 के लोकसभा चुनाव में बहुत बड़ा घोटाला करने जा रहा है ? इसकी आशंका फोन पर मित्र अपूर्व भारद्वाज ने आज दोपहर में जाहिर की तो मैं भी एकबारगी चौंक गया. अपूर्व डेटा एनिलिसिस के पुराने खिलाड़ी रह चुके हैं इसलिए उनकी बात वजन रखती है.उन्होंने बताया कि इस बार चुनाव आयोग ने एक एप बनाई है जिसका नाम है वोटर टर्नआउट एप इस ऐप के माध्यम से मतदान के दौरान रियल टाइम में यह जाना जा सकता है कि वोटरों की संख्या कितनी रही.किस चरण में कहां और कितने प्रतिशत मतदान हुआ.इस एप के माध्यम से ही उन्हें यह पता लगा कि चुनाव आयोग द्वारा कल शाम को रिलीज किये गए मतदान के आंकड़ों और आज दोपहर को जारी आंकड़ों में बहुत परिवर्तन आ गया है जिससे यह महसूस हो रहा है कि वाकई 'कुछ बड़ा होने वाला है.


इसे जब मैंने चेक किया गया तो यह बात बिल्कुल सच पाई गई.खुद चुनाव आयोग की वेबसाइट पर मौजूद आंकड़ों से यह बात सही सिद्ध हो रही है.

कल 29 अप्रैल को लोकसभा चुनाव के चौथे चरण में नौ राज्यों की 72 लोकसभा सीटों पर वोट डाले गए और रात 9:39 तक 63.16 फ़ीसदी मतदान दर्ज किया गया.नीचे इलेक्शन कमीशन की वेबसाइट से लिया गया स्क्रीन शॉट संलग्न है.इसके अनुसार कल निम्न प्रदेशों बिहार, जम्मू-कश्मीर, एमपी, महाराष्ट्र, ओडिशा, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल और झारखंड में क्रमश: 58.02 फीसदी, 9.79, 69.39, 55.86, 64.24, 67.91, 58.84, 76.72 और 64.38 फीसदी मतदान देखा गया.

बिहार 58.02 फीसद ,जम्मू कश्मीर 9.79 फीसद ,मध्यप्रदेश 69.39 फीसद ,महाराष्ट्र 55.86 फीसद,ओडिशा 64.24 फीसद ,

राजस्थान 67.91फीसद ,उत्तर प्रदेश 58.84 फीसद ,पश्चिम बंगाल 76.72 फीसद ,झारखंड 64.38 फीसद.

चुनाव आयोग का ग्राफ.

लेकिन जब आज यह इलेक्शन कमीशन की वोटर टर्नआउट एप' पर डेटा अपडेट हुआ तो सिर्फ 2 राज्यों में तस्वीरें पूरी तरह से बदल चुकी थीं.ये 2 राज्य हैं ओडिशा ओर पश्चिम बंगाल.इन दोनों राज्यों में मतदान का प्रतिशत अचानक लगभग सात से आठ फीसद बढ़ गया.अब ओडिशा में यह 64.24 फीसद से बढ़कर सीधे 72.89 झारखंड 64.38 फीसद हो गया और पश्चिम बंगाल में 76.72 झारखंड 64.38 फीसद से सीधा बढ़कर 82.77  फीसद हो गया.


बाकी राज्यों में भी थोड़ी घट बढ़ हुई है जैसे महाराष्ट्र में 55.86 फीसद  से 56.61 फीसद  हुआ है, राजस्थान में 67.91 फीसद से 68.16 फीसद  हुआ है लेकिन इन दो राज्यों में जहां बीजेपी की स्थिति सबसे कमजोर है और सारी ताकत उसने इन्हीं दो राज्यों पर लगा रखी है उन्हीं दो  राज्यों के मतदान के आंकड़ों में इतना बड़ा मेजर चेंज कैसे आ गया यह बात हैरान कर देती है.सबरंग इंडिया से साभार 

  • |

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :