ताजा खबर
माणिक सरकार का प्रतिबंधित भाषण 'जो अंग्रेजों का साथ दे रहे थे वे राष्ट्रवादी हो गए ' अखिलेश की गिरफ़्तारी , सड़क पर समाजवादी अडानी को लेकर ' द गॉर्डियन ' का धमाका !
खाट ले जाने वाला चोर और माल्या -राहुल गांधी
सुनीता साही 
खलीलाबाद .देवरिया के रुद्रपुर में हुई खाट पंचायत को लेकर मीडिया में जो किरकिरी हुई उसका हिसाब आज राहुल गांधी ने गोरखपुर से लेकर खलीलाबाद तक में बराबर कर दिया .उन्होंने लोगों से कहा किसान खाट ले जाता है तो ये भाजपा वाले और मीडिया के कुछ लोग किसान को चोर कहते है जबकि विजय माल्या हजारो करोड़ लेकर भाग जाता है तो उसे डिफाल्टर कहा जाता है .राहुल गांधी कल से पूर्वांचल के दौरे पर हैं और उनका आगाज  पार्टी में जान फूंकने वाला नजर आ रहा है .खाट सभा में लोग आ रहे है और पूर्वांचल के इस दौरे में राहुल गांधी को देखना और सुनना भी चाहते है .राहुल गांधी का सीधा हमला नरेंद्र मोदी पर होता है और वे उन्हें उद्योगपतियों का हितैषी और किसानो का विरोधी घोषित कर रहे है .चाहे कल कुशीनगर की सभा रही हो या फिर खलीलाबाद की बंद पड़ी मिल में आज हुई सभा हो .इस बीच प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजबब्बर ने कहा खटिया किसानो के लिए थी और भाजपा बोल रही है कि किसानों ने खटिया लूट ली। क्या किसान लूटेरा है? किसान बताएगा 2017 में कि कौन लूटेरा है.ख़ास बात यह है कि कल रुद्रपुर देवरिया की जिस सभा में किसान खाट लेकर गए उस सभा में एक अंग्रेजी चैनल के पत्रकार ने ही राहुल गांधी के जाने के बाद किसानो को उकसाया कि यह खाट उन्ही के लिए है वे ले जाए .इसके बाद ही खाट ले जाने की होड़ लगी और छीना झपटी भी शुरू हुई . 
 
इससे पहले गोरखपुर में जापानी बुखार से पीड़ित बच्चों से मिलने वे बाबा राघव दास  मेडिकल कालेज गए . मेडिकल कालेज में इंसेफ़लाइटिस मरीजों से मिलकर बाहर आए तो  फिर निशाने पर प्रधानमत्री नरेंद्र मोदी पर थे .इस मौके पर उन्होंने कहा कि पूर्वांचल में इंसेफलाइटिस मरीजों के इलाज के लिए सबसे अधिक धन यूपीए की सरकार में दिया गया था. पर  मोदी सरकार का इस तरफ ध्यान ही नहीं है.राहुल गांधी ने दोहराया कि  मोदी सरकार केवल उद्योगपतियों की जेब भरने में लगी है, इसीलिए मौत से जूझते इंसेफ़लइटिस मरीजों की फिक्र उसे नहीं है.राहुल गांधी के इस दौरे से पूर्वांचल के कांग्रेसियों में उत्साह बढ़ गया है .शहर में भी भीड़ नजर आई तो गांव और कस्बों में भी .राहुल गांधी गांव कस्बो से गुजरते हुए रात्रि विश्राम बस्ती में करेंगे .इससे पहले सहजनवा ,संतकबीर नगर से लेकर मनियारा बाजार तक का व्यस्त कार्यक्रम है . वे किसान नौजवान से संवाद करते हुए दलित बस्ती में भी लोगों से मिले .राहुल गांधी का कार्यक्रम इस तरह बनाया गया है कि वे किसी दलित परिवार के साथ चाय पीए तो भोजन भी दलित परिवार में करे .इसका बड़ा राजनैतिक संदेश कांग्रेस देना चाहती है .एक तरफ उत्तर प्रदेश में जहां बसपा संकट के दौर से गुजर रही है वही राहुल गांधी का दलितों के घर भोजन करते चलना रंग ला सकता है .वैसे भी दलित कांग्रेस का ही परम्परागत वोट बैंक रहा है और पार्टी फिर से उसे जोड़ने की कवायद में जुटी है .बहरहाल राहुल गांधी के दो दिन के दौरे से सबसे ज्यादा परेशानी भाजपा खेमे में देखी जा रही है जो पूर्वांचल में बढती नजर आ रही थी . शुरूआती दौर में राहुल गांधी के इस दौरे का कुछ न कुछ असर तो पड़ता नजर आ ही रहा है .
email ईमेल करें Print प्रिंट संस्करण
  • दो रोटी और एक गिलास पानी !
  • मंत्री की पत्नी ने जंगल की जमीन पर बनाया रिसार्ट !
  • आधी आबादी ,आधी आजादी?
  • घर की देहरी लांघ स्टार प्रचारक बन गई डिंपल
  • मायावती का बहुत कुछ दांव पर
  • लो फिर बसंत आई
  • जिसका यूपी उसका देश ....
  • यनम : इतना निस्पंद !
  • बर्फ़बारी-हिमालय को मिलता है नया जीवन
  • गांव क़स्बे की भाषा बोलते थे अनुपम मिश्र
  • पीली पड़ रही नीली क्रांति
  • पान ,मखान और मछली
  • सर्जिकल स्ट्राइक की सर्जरी
  • चाय के साथ चुटकी भर रूमान..
  • ई तो आम मनई जस लागत हैं
  • कश्मीर का जवाब बलूचिस्तान ?
  • राजा भैया का साथ ठीक नहीं -अमर
  • कई अख़बार ,कई बार
  • एक संपादक ऐसा भी
  • राम की अग्नि परीक्षा
  • Post your comments
    Copyright @ 2016 All Right Reserved By Janadesh
    Designed and Maintened by eMag Technologies Pvt. Ltd.