जनादेश

बिहार में कोरोना से फैली दहशत नेपाल में अब इमरजेंसी की भी आहट एक सवाल कभी नहीं मर सकता अति राष्ट्रवाद की राजनीति का परिणाम अखबारों की मोतियाबिंदी नजर राजनीतिशास्त्र अपराधशास्त्र की ही एक शाखा है उत्तर प्रदेश में फिर लॉक डाउन ,फ़िलहाल तीन दिन का विकास दुबे की कहानी में कोई झोल नहीं है ? बिहार में राजनीति तो बंगाल में लापरवाही का नतीजा सामने तो बच्चों के दिमाग से लोकतंत्र हटा देंगे ? अपना वादा भूल गए नीतीश दलाई लामा से यह बेरुखी क्यों ? बारूद के ढेर पर बैठा है पटना विदेश नीति में बदलाव करना चाहिए जब तक जिए शान से जिये चन्द्रशेखर असली समस्या तो बुद्धि है सादगी में मुस्कुराता चेहरा यानी चंद्रशेखर गांव ,गरीब और पेड़ के लिए सत्याग्रह गुजर जाना एक दरख्त का जोमैटो में चीन का निवेश रुका

बिहार में कोरोना का आंकड़ा तीन हजार पार

आलोक कुमार 

पटना. बिहार में अब तक सबसे अधिक पटना में 245, रोहतास में 201, मधुबनी में 176 तथा बेगूसराय में 180 कोरोना के मामले सामने आए हैं. बिहार राज्य स्वास्थ्य विभाग के सचिव लोकेश कुमार सिंह के अनुसार अब तक कुल 70,275 सैंपल्स की जांच की जा चुकी है और अब कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 3,185 हो गई है.

पटना जिले में 16 नए मरीजों की पुष्टि हुई है जिनमें से 10 धनरुआ के क्वारंटाइन सेंटर में रहने वाले हैं. दरअसल धनरूआ में 19 मई को 40 साल के शख्स की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी उसके संपर्क में आने के कारण क्वारंटाइन सेंटर में रहने वाले 10 लोग कोरोना पॉजिटिव हो गए.इन सभी की उम्र 19 से 38 साल के बीच है और सभी प्रवासी मजदूर हैं. क्वारंटाइन सेंटर में रहने वाले सुरमई गांव के 3 लोग एक ही परिवार के हैं. यह हरियाणा से आए थे. इसके अलावा राजस्थान से आए एक युवक और सीरिया से आए एक शख्स को भी कोरोना पॉजिटिव पाया गया है.क्वारंटाइन सेंटर में पॉजिटिव पाए गए सभी लोगों को अब अनुमंडलीय अस्पताल में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है.क्वारंटाइन सेंटर को खाली कराकर वहां सैनेटाइजेशन का काम किया जा रहा है.

राजधानी पटना के नए इलाकों में लगातार कोरोना के नए केस सामने आ रहे हैं. गुरुवार को पटना के बोरिंग रोड और शास्त्रीनगर इलाके में संक्रमण के नए मामले सामने आए हैं.बोरिंग रोड में किराए का फ्लैट लेकर रह रहे मलेशियाई नागरिक को कोरोना पॉजिटिव पाया गया है.यह पटना म्यूजियम में काम करने वाली सिंगापुर की आर्किटेक्ट कंपनी का एंप्लोई है जबकि शास्त्रीनगर में जिस 44 साल के शख्स को कोरोना पॉजिटिव पाया गया है वह हार्ट की सर्जरी कराने के लिए पीएमसीएच में भर्ती हुआ था. 

राजधानी क्षेत्र में दो नए संक्रमण के मामले के बाद या विशेष सतर्कता बरती जा रही है.इसके अलावे विक्रम के मोहनचक में 7 साल का एक बच्चा भी कोरोना पॉजिटिव पाया गया है. यह बच्चा पहले से बीमार था और इसे आईजीआईएमएस में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था. आंत की बीमारी से परेशान इस बच्चे की सर्जरी से पहले उसका टेस्ट कराया गया और रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई.पटना सिटी इलाके में भी कोरोना के 2 नए मरीज पाए गए हैं यह दोनों अगमकुआं थाना इलाके के धनुकी गांव के रहने वाले हैं.

बिहार में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी राज्य सरकार के लिए चिंता का सबब बन गई है. गुरुवार को भी कोरोना के 149 नए पॉजिटिव मामले मिले. इससे प्रदेश में कुल मरीजों की संख्या 3185 हो गई है. बताया जा रहा है कि गुरुवार को मिले मरीजों में बिहार के एक आइएएस अधिकारी भी हैं. हालांकि राज्य में अब तक 1050 लोग कोरोना पर जीत भी हासिल की है. इस बीच गुरुवार को एक व्यक्ति की मौत के साथ कोरोना से मरने वालों की संख्या 16 हो गई. बताया जा रहा है कि यह व्यक्ति दूसरे राज्य से लौटा था और 25 मई को ही इसकी मौत हो गई थी. गुरुवार को इस शख्स की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई.

बिहार में अब तक सबसे अधिक पटना में 245, रोहतास में 201, मधुबनी में 176 तथा बेगूसराय में 180 कोरोना के मामले सामने आए हैं. बिहार राज्य स्वास्थ्य विभाग के सचिव लोकेश कुमार सिंह के अनुसार अब तक कुल 70,275 सैंपल्स की जांच की जा चुकी है और अब कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 3,185 हो गई है.बता दें कि बिहार में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा बीते एक सप्ताह में दोगुना से भी अधिक हो गया है. गौरतलब है कि 19 मई को राज्य में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 1519 थी, जो कि 27 मई को बढ़कर 3085 हो गई है, जिसमें ज्यादातर बिहार के बाहर से आए प्रवासी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं.


Share On Facebook

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :