जनादेश

उपेक्षा से हुई मौतों का विरोध गैर सरकारी ट्रस्ट का सरकारी प्रचार क्यों? मद्रास में गढ़े गए थे देशभक्त रामनाथ गोयनका देश के लिए क्रिश्चियन फोरम ने की प्रार्थना जहां पीढ़ियों से लॉकडाउन में रह रहे हैं हजारों लोग अमेरिका और चीन के बीच में फंस तो नहीं रहे हम ? बेनक़ाब होता कोरोना का झूठ ! क्या सरकारों के खैरख्वाह बन गए हैं अख़बार ? तुषार मेहता की 'समानांतर' सरकार .... चौधरी से मिले तेजस्वी यादव अजीत जोगी कुशल प्रशासक थे या सफल राजनेता ! पटना में शनीचर को सैलून खुलेगा तो आएगा कौन ? चौधरी चरण सिंह को याद किया खांटी किसान नेता थे चौधरी चरण सिंह एक विद्रोही का ऐसे असमय जाना ! बांग्लादेश से घिरा हुआ है मेघालय पर गरीब को अनाज कब मिलेगा ओली सरकार पीछे हटी क्योंकि बहुमत नहीं रहा ! मंत्रिमंडल विस्तार में शिवराज की मुश्किल बिहार में कोरोना का आंकड़ा तीन हजार पार

ऐसे सेनेटाइज करते हैं मजदूरों को

नई दिल्‍ली. यह दृश्य देख रहे हैं .यह दिल्ली से बरेली पहुंचे मजदूर परिवारों को कथित रूप से सेनेटाइज करने का दृश्य है .उन्हें केमिकल डाल कर फौवारे से नहला दिया गया .यह सेनेटाइज करने का नया तरीका है .कभी सुना आपने की वुहान से दिल्ली जहाज से लाए गए लोगो को हवाई अड्डे पर इस तरह सेनेटाइज किया गया हो .यह गरीब और गरीबी दोनों का मजाक नहीं लगता .क्या यही सुशासन है .इस मामले की जांच के आदेश हो चुके हैं पर यह नौकरशाही के तौरतरीको पर भी सवाल खड़ा करता है .

 प्रशासन के इस कदम की कांग्रेस ने निंदा की है. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा  ने इस मामले पर यूपी सरकार से आग्रह किया है कि मजदूरों को केमिकल से इस तरह मत नहलाइये. इसके बाद बरेली के डीएम ने मामले को संज्ञान में लेते हुए कार्रवाई के आदेश दिए हैं.प्रियंका गांधी वाड्रा ने अपने ट्वीट में लिखा, 'यूपी सरकार से गुजारिश है कि हम सब मिलकर इस आपदा के खिलाफ लड़ रहे हैं लेकिन कृपा करके ऐसे अमानवीय काम मत करिए. मजदूरों ने पहले से ही बहुत दुख झेल लिए हैं. उनको केमिकल डाल कर इस तरह नहलाइए मत. इससे उनका बचाव नहीं होगा बल्कि उनकी सेहत के लिए और खतरे पैदा हो जाएंगे.'फोटो साभार 


Share On Facebook

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :