बारूद के ढेर पर बैठा है पटना

आखिर वह दिन आ ही गया ! बिहार में कब चुनाव होगा? मंदिर निर्माण का श्रेय इतिहास में किसके नाम दर्ज होगा ? राष्ट्रीय कंपनी अधिनियम पंचाटः तकनीकी सदस्यों पर अनावश्यक विवाद बहुतों को न्यौते का इंतजार ... आत्महत्या की कहानी में झोल है पार्षदों को डेढ़ साल से मासिक भत्ता नहीं मिला पटना के हालात और बिगड़े गांधीवादियों की चिट्ठी सोशल मीडिया में क्यों फैली ? अमर की चिंता तो रहती ही थी मुलायम को चारण पत्रकारिता से बचना चाहिए तो क्या 'विरोध' ही बचा है आखिरी रास्ता पटना नगर निगम के मेयर सफल रहीं अमर सिंह को कितना जानते हैं आप राजस्थान का गुर्जर समाज किसके साथ शिवराज समेत चार मंत्रियों को कोरोना कम्युनिस्ट भी बंदर बांट में फंस गए पूर्वोत्तर में भी बेकाबू हुआ कोरोना किसान मुक्ति आंदोलन का कार्यक्रम शुरू राजकमल समूह में शामिल हुआ हंस प्रकाशन

बारूद के ढेर पर बैठा है पटना

आलोक कुमार

पटना. जिलों में कोरोना के कोहराम के बीच में जिलाधिकारी लाॅकडाउन लगाना शुरू कर दिये है. किशनगंज जिला में 72 घंटे का लॉकडाउन लगाया जा चुका है. किशनगंज जिला अन्तर्गत रोको टोको अभियान के तहत डॉ० आदित्य प्रकाश, जिला पदाधिकारी किशनगंज के निर्देशानुसार जिलावासियों को मास्क के नियमित उपयोग तथा सामाजिक दूरी के पालन के लिए प्रेरित करते पदाधिकारीगण. नियमों का पालन नहीं करने वालों से  जुर्माना भी वसूला गया. मास्क के नियमित उपयोग को लेकर जिलावासियों के बीच जागरूकता लाने के लिए समाहरणालय परिसर किशनगंज से ‘मास्क जागरूकता रथ‘को हरी झंडी दिखाकर रवाना करते हुए डॉ० आदित्य प्रकाश, जिला पदाधिकारी किशनगंज. किशनगंज जिला अन्तर्गत कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए डॉ० आदित्य प्रकाश, जिला पदाधिकारी किशनगंज के निर्देशानुसार शहरी क्षेत्रों में लगातार कराया जा रहा है कार्य.पश्चिम चम्पारण जिला में 9 जुलाई से 10 घंटे का लाॅकडाउन शुरू होगा.इससे पहले भागलपुर जिला के डीएम ने 9 जुलाई से 13 जुलाई तक 5 दिनों के लॉकडाउन का आदेश किया है. कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए जिलाधिकारी पटना श्री कुमार रवि ने पटना जिला में 7 दिन (दिनांक 10.07.2020 से 16.07.2020 तक) का लॉकडाउन का आदेश दिया है. राज्य स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार 8 जुलाई को शाम 4 बजे तक बिहार में कुल मरीजों की संख्या 13274 हो गई है. इनमें 100 मरीजों की मृत्यु हो चुकी है और 9541 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। अभी 3632 ऐक्टिव मरीज हैं.


जिले में 9 जुलाई से संध्या 07.00 बजे से सुबह 5.00 बजे तक संपूर्ण लाॅकडाउन.सभी दुकानें/प्रतिष्ठान सुबह 11 बजे से संध्या 5.30 बजे तक संचालित करने का आदेश.बिना मास्क पहने घर से निकलने वालों पर होगा जुर्माना. समाहरणालय सभाकक्ष में आज कोरोना संक्रमण की रोकथाम हेतु की जा रही तैयारियों की गहन समीक्षा जिलाधिकारी, श्री कुंदन कुमार एवं पुलिस अधीक्षक, बेतिया, श्रीमती निताशा गुड़िया द्वारा किया गया. समीक्षा के क्रम में जिलाधिकारी ने कहा कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए जिले में संध्या 7.00 बजे से सुबह 5.00 बजे संपूर्ण लाॅकडाउन लगाया जा रहा है. लाॅकडाउन के दौरान सभी दुकानें/प्रतिष्ठान सुबह 11 बजे से लेकर संध्या 5.30 बजे तक ही खुली रहेंगी. सरकारी अथवा गैरसरकारी संस्थानों में कार्यरत अधिकारियों एवं कर्मियों को पहचान पत्र के आधार पर आवागमन की सुविधा प्रदान की जायेगी.

उन्होंने कहा कि सभी दुकानों/प्रतिष्ठानों के सामने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन संबंधित दुकानदार द्वारा  किया जाना आवश्यक है. इसका अनुपालन सभी दुकानों/प्रतिष्ठानों के आॅनर सुनिश्चित करेंगे. साथ ही सभी दुकानों/प्रतिष्ठानों के आॅनर/कर्मी/ग्राहक अनिवार्य रूप से मास्क का प्रयोग करेंगे.बिना मास्क के दुकान अथवा प्रतिष्ठान में किसी भी व्यक्ति का प्रवेश निषेध रहेगा.

जिलाधिकारी ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सभी व्यक्तियों को घर से बाहर निकलते समय फेस मास्क अथवा फेस कवर पहनना अनिवार्य है.कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए कोई भी व्यक्ति घर से बाहर निकलते समय फेस मास्क अथवा फेस कवर जरूर पहने.साथ ही दुकानों/माॅलों तथा अन्य सार्वजनिक स्थलों पर मास्क लगाना अनिवार्य कर दिया गया है। बिना मास्क के घर से बाहर निकलने तथा दुकानों/माॅलों में मास्क के बिना खरीदारी/बिक्री करने वाले के विरूद्ध 50 रू0 जुर्माना का प्रावधान किया गया है. समूचे जिले में मास्क पहनने को लेकर सघन जांच अभियान चलाया गया. सघन जांच में मास्क नहीं पहनने वाले व्यक्तियों से लगभग 63 हजार रू0 का जुर्माना वसूला गया है.उन्होंने कहा कि मास्क को लेकर सघन जांच अभियान लगातार जारी रहेगा.

जिलाधिकारी द्वारा संबंधित अधिकारियों को मीना बाजार की दुकानों को ग्रुप में बांटकर अल्टरनेट डे में संचालित कराना सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है. उन्होंने कहा कि मीना बाजार के संकरे रास्तों तथा अत्यधिक भीड़भाड़ को देखते हुए प्रवेश मार्ग को वन-वे किया जाना आवश्यक है. आवागमन वन-वे हो जाने के उपरांत एक निर्धारित मार्ग से व्यक्ति प्रवेश करेंगे तथा खरीदारी करते हुए दूसरे मार्ग से निकास करेंगे. साथ ही मीना बाजार में छह ड्राॅप गेट संचालित कर सभी आने-जाने वाले लोगों की प्राॅपर जांच तथा बिना मास्क वाले व्यक्तियों को जुर्माना करने के लिए निर्देशित किया गया है. उन्होंने कहा कि मीना बाजार में भीड़भाड़ को देखते हुए वहां पर्याप्त संख्या में मजिस्ट्रेट तथा पुलिस बलों (महिला पुलिस सहित) की प्रतिनियुक्ति अविलंब किया जाय.

समीक्षा के क्रम में जिला परिवहन पदाधिकारी को निर्देश दिया गया कि बसों की प्राॅपर जांच नियमित तौर पर कराना सुनिश्चित किया जाय. अगर किसी बस में निर्धारित सीट के अतिरिक्त पैसेंजर पाये जाते हैं तो उनपर विधिसम्मत जुर्माना किया जाय तथा बस ड्राईवर, कंडक्टर, खलासी सहित सभी पैसेंजर मास्क का प्रयोग अनिवार्य रूप से करें, इसको सुनिश्चित किया जाय.कार्यपालक पदाधिकारी, नगर निकाय को फायर ब्रिगेड वाहनों के माध्यम से विभिन्न सार्वजनिक स्थलों का नियमित तौर पर सैनेटाइजेशन कराने को कहा गया है.  

पुलिस अधीक्षक, बेतिया, श्री निताशा गुड़िया ने कहा कि सभी पुलिस अधिकारी लाॅकडाउन का पूर्णतः पालन कराने के लिए सभी आवश्यक कदम उठायें. साथ ही विभिन्न चैक-चैराहों, मार्गों पर बैरियर लगाकर मास्क हेतु सघन जांच अभियान चलाया जाय. इन जगहों पर महिला पुलिस कर्मियों की भी प्रतिनियुक्ति की जाय. उन्होंने कहा कि जो भी व्यक्ति बिना मास्क के दिखाई दें उसको जुर्माना किया जाय. साथ ही विभिन्न मार्गों में नियमित तौर से पेट्रोलिंग करना सुनिश्चित करें.


Share On Facebook
  • |

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :