बिहार में कोरोना से फैली दहशत

आखिर वह दिन आ ही गया ! बिहार में कब चुनाव होगा? मंदिर निर्माण का श्रेय इतिहास में किसके नाम दर्ज होगा ? राष्ट्रीय कंपनी अधिनियम पंचाटः तकनीकी सदस्यों पर अनावश्यक विवाद बहुतों को न्यौते का इंतजार ... आत्महत्या की कहानी में झोल है पार्षदों को डेढ़ साल से मासिक भत्ता नहीं मिला पटना के हालात और बिगड़े गांधीवादियों की चिट्ठी सोशल मीडिया में क्यों फैली ? अमर की चिंता तो रहती ही थी मुलायम को चारण पत्रकारिता से बचना चाहिए तो क्या 'विरोध' ही बचा है आखिरी रास्ता पटना नगर निगम के मेयर सफल रहीं अमर सिंह को कितना जानते हैं आप राजस्थान का गुर्जर समाज किसके साथ शिवराज समेत चार मंत्रियों को कोरोना कम्युनिस्ट भी बंदर बांट में फंस गए पूर्वोत्तर में भी बेकाबू हुआ कोरोना किसान मुक्ति आंदोलन का कार्यक्रम शुरू राजकमल समूह में शामिल हुआ हंस प्रकाशन

बिहार में कोरोना से फैली दहशत

आलोक कुमार

पटना.बिहार में कोरोना वायरस संक्रमण के गुरुवार को 704 नये मामले सामने आये. नये मामलों के सामने आने के साथ ही बिहार में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या बढ़ कर 13978 हो गयी है.राज्य में 13978 संक्रमित: पटना 1613, भागलपुर 758, बेगूसराय 655, सीवान 625, मुजफ्फरपुर 567, मधुबनी 523,मुंगेर 502, नवादा 413, गोपालगंज 411, रोहतास 408, समस्तीपुर 408, कटिहार 393, दरभंगा 372, नालंदा 410, खगड़िया 389, पूर्णिया 343, गया 334, सुपौल 326, जहानाबाद 309, औरंगाबाद 311, प. चंपारण 322, सारण 308, पू. चंपारण 300, भोजपुर 290, सहरसा 276, बांका 282, वैशाली 323, मधेपुरा 238, बक्सर 249, किशनगंज 229, कैमूर 220, शेखपुरा 187, सीतामढ़ी 171, लखीसराय 165, अररिया 157, अरवल 146, जमुई 117 और शिवहर में 103 मरीज मिले हैं.वहीं अबतक 113 कोरोना मरीजों की मौत हो गई है.राज्य के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय के अनुसार शाम 6:00 बजे तक बिहार में पिछले 24 घंटे में 324 कोरोना संक्रमित हुए स्वस्थ | अब तक राज्य में कुल 9338 कोरोना संक्रमित स्वस्थ हो चुके है | बिहार में कोरोना की रिकवरी दर लगभग 74.55  प्रतिशत  है | राज्य में कुल एक्टिव केस 3088  है.

राजधानी पटना में सबसे अधिक 132 मामले सामने आये. वहीं, पटना और सटे जिलों में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल 340 मामले सामने आये.बिहार में कोरोना वायरस संक्रमण के गुरुवार को राजधानी और पटना जिले से सटे जिलों में कोरोना का संक्रमण ज्यादा है. कोरोना वायरस संक्रमण कुल 704 मामलों में से 340 मामले राजधानी पटना और सटे जिलों में सामने आये. पटना में 132, वैशाली में 73, बेगूसराय में 44, नालंदा में 42, समस्तीपुर में 19, सारण में 15, लखीसराय में 08, अरवल में 05 और भोजपुर में 02 मामले सामने आये.


इसके अलावा बिहार के अन्य जिलों में कुल 364 मामले सामने आये. भागलपुर में 63, मुजफ्फरपुर में 39, खगड़िया में 37, मुंगेर में 29, पश्चिम चंपारण में 23, बांका में 20, रोहतास में 19, सिवान में 18, गोपालगंज में 17, बक्सर में 11, पूर्वी चंपारण में 11, गया में 10, अररिया में 08, किशनगंज में 08, मधुबनी में 08, औरंगाबाद में 07, नवादा में 07, सुपौल में 07, दरभंगा में 04, कटिहार में 04, पूर्णिया में 04, कैमूर में 03, शिवहर में 03, जमुई में 01 और सीतामढ़ी में 01 मामले सामने आये.उत्तर प्रदेश के बलिया निवासी और झारखंड के गिरिडीह निवासी एक व्यक्ति में कोरोना संक्रमित मिला है. दोनों व्यक्तियों का सैंपल पटना से लिया गया था. स्वास्थ्य विभाग ने कहा है कि संक्रमितों के संपर्क में आये लोगों के चेन का पता लगाया जा रहा है.


स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, बिहार में अब तक पाये गये 13978 कोरोना संक्रमित लोगों में से 9541 मरीज ठीक हो चुके हैं. इसके साथ ही ठीक होनेवालों का प्रतिशत घट कर 68.26 हो गया है. मालूम हो कि कोरोना संक्रमण से ठीक होनेवालों का प्रतिशत बुधवार को 71.88 फीसदी था.राजधानी पटना में कोरोना वायरस का संक्रमण बढ़ने के कारण कंटेनमेंट जोन भी बढ़ते जा रहे हैं.पटना जिले में कंटेनमेंट जोन की संख्या बढ़कर 83 पहुंच गई है. इस प्रतिबंधित क्षेत्र में 44 हजार 442 लोग रह रहे हैं. जिले में पहले 67 कंटेनमेंट जोन थे जिसमें 16 का इजाफा हुआ है.

जिला प्रशासन ने जहां भी कोरोना वायरस के मरीज मिले हैं उसे प्रतिबंधित क्षेत्र घोषित कर दिया है. वर्तमान समय में जो कंटेनमेंट जोन है उसमें पटना सिटी अनुमंडल क्षेत्र में 17, पटना सदर में 35 ,दानापुर में 17, मसौढ़ी में छह तथा पालीगंज में 8 जोन बनाए गए हैं .कंटेनमेंट जोन में अवस्थित घरों की कुल संख्या 9 हजार 850 तथा कंटेनमेंट जोन में वर्तमान समय 44 हजार 442 लोग रह रहे हैं.हर दिन सैकड़ों की संख्या में मरीजों का इजाफा हो रहा है. स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी ताजा अपडेट के मुताबिक बिहार में 276 लोग कोरोना पॉजिटव मिले हैं. इसके साथ ही राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 12140 हो गई है.

कांग्रेस विधान पार्षद प्रेमचंद मिश्रा ने पटना सहित राज्य के अनेक भागों में कोरोना संक्रमण के फैलते रफ्तार को चिंताजनक बताते हुए मुख्यमंत्री से आग्रह किया है कि वे राजधानी पटना सहित सभी कंटेनमेंट ज़ोन वाले इलाकों में पूर्ण लॉक डाउन लगाने पर तत्काल विचार करें.उन्होंने कहा कि अनलॉक 1 और 2 में पटना की स्थिति बिगड़ती जा रही है जहां 83 कंटोनमेंट ज़ोन बनाना पड़ा है और प्रायः प्रतिदिन राज्य में औसतन संक्रमित मरीजों की संख्या में लगभग 400-500 की वृद्धि होना चिंता को बढ़ाने वाला है.सरकार को बिना विलंब किये फिर से पूर्ण लॉक डाउन लगाने पर गंभीरतापूर्वक विचार करना चाहिए.


उन्होंने पूछा कि सरकार बताये की क्या संक्रमित मरीजों की बढ़ती संख्या के लिए अब भी वह तबलीगी जमात को या प्रवासियों श्रमिकों को जिम्मेदार ठहराना चाहती है क्या? उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार के द्वारा लॉक डाउन तथा अनलॉक 1 और अनलॉक 2 में दी गयी ढील से उत्पन्न स्थिति ने संक्रमण बढ़ाने का काम किया है तथा सरकार ने हाथ खड़े कर लोगों को भगवान भरोसे छोड़ दिया है.


कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए अब सरकार ने नियम तोडऩे वालों से सख्ती से निपटने का निर्णय लिया है. बाजार में ज्यादा भीड़ होने, दुकानदारों द्वारा मास्क का उपयोग और फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने पर दुकानों को दो दिन के लिए बंद कराया जाएगा. इतना ही नहीं संबंधित दुकान के आसपास की दुकानों पर भी दो दिन के लिए ताला लगाया जाएगा.

अनुमंडल दण्डाधिकारी ,पटना सदर ने मोबाइल गार्डन प्रो.शंभु कुमार, कुर्जी मोड़ पर कोविड-19 आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005,बिहार महामारी कोविड-19  विनियमावली 2020 तथा महामारी अधिनियम 1897 का घोर उल्लंघन पाया. तत्काल प्रभाव से अगले तीन दिनों तक दुकान बंद रखने का आदेश दिया था. अनुमंडल दण्डाधिकारी ,पटना सदर के पास कारणपृच्छा करने के बाद आज दुकान खुली.कल से 10 से 16 जुलाई तक लॉकडाउन के कारण बंद रहेगी.


Share On Facebook
  • |

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :