केरल में कोरोना का कम्युनिटी ट्रांसमिशन शुरू

आखिर वह दिन आ ही गया ! बिहार में कब चुनाव होगा? मंदिर निर्माण का श्रेय इतिहास में किसके नाम दर्ज होगा ? राष्ट्रीय कंपनी अधिनियम पंचाटः तकनीकी सदस्यों पर अनावश्यक विवाद बहुतों को न्यौते का इंतजार ... आत्महत्या की कहानी में झोल है पार्षदों को डेढ़ साल से मासिक भत्ता नहीं मिला पटना के हालात और बिगड़े गांधीवादियों की चिट्ठी सोशल मीडिया में क्यों फैली ? अमर की चिंता तो रहती ही थी मुलायम को चारण पत्रकारिता से बचना चाहिए तो क्या 'विरोध' ही बचा है आखिरी रास्ता पटना नगर निगम के मेयर सफल रहीं अमर सिंह को कितना जानते हैं आप राजस्थान का गुर्जर समाज किसके साथ शिवराज समेत चार मंत्रियों को कोरोना कम्युनिस्ट भी बंदर बांट में फंस गए पूर्वोत्तर में भी बेकाबू हुआ कोरोना किसान मुक्ति आंदोलन का कार्यक्रम शुरू राजकमल समूह में शामिल हुआ हंस प्रकाशन

केरल में कोरोना का कम्युनिटी ट्रांसमिशन शुरू

राकेश सहाय 

तिरुअनंतपुरम.केरल सरकार ने स्वीकार कर लिया है कि राज्य में कोरोना का कम्युनिटी ट्रांसमिशन हो रहा है.और भी राज्यों में कोरोना का कम्युनिटी ट्रांसमिशन हुआ होगा लेकिन केरल ने इसे स्वीकार कर लिया है .यह राजनैतिक ईमानदारी है.इससे अन्य राज्यों को भी सोचना चाहिए .  केरल देश का ऐसा पहला राज्य बन गया है, जहां आधिकारिक तौर पर कोरोना के कम्युनिटी ट्रांसमिशन की बात मानी गई है. राज्य सरकार का मानना है कि कोरोना वायरस अब केरल के शहरों से लेकर गांवों तक फैल गया है. कम्युनिटी ट्रांसमिशन का मतलब है कि इसके सोर्स का पता लगाना मुश्किल हो गया है और कुछ इलाकों में किसी को भी कोरोना का संक्रमण हो सकता है.केरल में स्वास्थ्य सेवाओं का ढांचा काफी मजबूत है इसलिए हालात अभी भी बहुत विस्फोटक नहीं है .खासकर महाराष्ट्र और दिल्ली के मुकाबले .

गौरतलब है कि देश में सबसे पहला मामला केरल में ही मिला था जब चीन के वुहान से एक छात्रा संक्रमित होकर यहां पहुंची थी .पर उसके बाद केरल ने काफी मशक्कत कर कोरोना पर काबू पा लिया था .लेकिन लाकडाउन के बाद जब बाहर से आवाजाही खुली तो फिर कोरोया फ़ैल गया .केरल में ज्यादातर लोग विदेश आते जाते रहते हैं जिसकी वजह से यह तेजी से बढ़ा .हालांकि सरकार युद्ध स्तर पर जुटी हुई है लेकिन फिलहाल हालात बेकाबू हैं . 


केरल में बुधवार को पहली बार एक दिन में कोरोना के सबसे ज्यादा 1038 मामले आए. इसके बाद कुल मरीजों की संख्या 15032 पहुंच गई। बुधवार तक कोरोना के ऐक्टिव केस की संख्या 8,818 थी। बुधवार को ही सीएम पिनराई विजयन ने कहा था कि 785 लोग पहले से संक्रमित शख्स के संपर्क में आने से संक्रमित हुए जबकि 57 अन्य लोगों को संक्रमण कहां से लगा, इसकी जानकारी नहीं है. इसी के आधार पर आशंका जताई गई थी कि राज्य में कोरोना का कम्युनिटी ट्रांसमिशन हो रहा है.

बुधवार को केरल में 20,847 सैंपल की जांच की गई है।. तकरीबन 1,59,777 लोग निगरानी में हैं, जिनमें से 9,031 लोग अस्पतालों में भर्ती है. 1164 लोगों को एक ही दिन में अस्पताल में भर्ती कराया गया. सीएम विजयन ने बताया कि 31,86,44 नमूनों की अब तक जांच की जा चुकी है. मुख्यमंत्री के मुताबिक, तिरुवनंतपुरम में स्थिति काफी गंभीर बनी हुई है. जिले के 226 मामलों में से 190 संक्रमित व्यक्तियों के संपर्क में आने से संक्रमित हुए जबकि 15 लोगों को कहां से संक्रमण लगा इसकी जानकारी नहीं है. संक्रमितों में आठ स्वास्थ्य कर्मी हैं.


Share On Facebook
  • |

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :